कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय

खरीफ फसलों के अंतर्गत बीते साल की तुलना में ढाई गुना हुआ दालों का बुआई क्षेत्र; तिलहन के रकबे में भी हुई खासी बढ़ोत्‍तरी

चावल, मोटे अनाज और कपास का बुआई क्षेत्र भी बढ़ा

Posted On: 10 JUL 2020 9:05PM by PIB Delhi

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौरान किसान और कृषि गतिविधियों को सहूलियत देने के लिए कई कदम उठा रहा है।

खरीफ फसलों के अंतर्गत बुआई के कवरेज क्षेत्र में संतोषजनक प्रगति रही है, जिसकी स्थिति निम्नलिखित है :

ग्रीष्मकालीन फसलों की बुवाई का कवरेज क्षेत्र:

चावल: ग्रीष्मकालीन चावल का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अब तक करीब 120.77 लाख हेक्टेयर है, जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 95.73 लाख हेक्टेयर रहा था।

दलहन: दलहन का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अभी तक करीब 64.25 लाख हेक्टेयर है, जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 24.49 लाख हेक्टेयर रहा था।

मोटे अनाज: मोटे अनाजों का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अब तक करीब 93.24 लाख हेक्टेयर है जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 71.96 लाख हेक्टेयर रहा था।

तिलहन: तिलहन का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अब तक करीब 139.37 लाख हेक्टेयर है जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 75.27 लाख हेक्टेयर रहा था।

गन्ना: गन्ने का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अब तक करीब 50.89 लाख हेक्टेयर है, जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 50.59 लाख हेक्टेयर रहा था।

पटसन (जूट) एवं मेस्टा: पटसन एवं मेस्टा का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अब तक करीब 6.87 लाख हेक्टेयर है जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 6.82 लाख हेक्टेयर रहा था।

कपास: कपास का बुवाई कवरेज क्षेत्र इस वर्ष अब तक करीब 104.82 लाख हेक्टेयर है जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 77.71 लाख हेक्टेयर रहा था।

बुआई क्षेत्र के विवरण के लिए क्लिक करें

****

एसजी/एएम/एमपी/एसएस



(Release ID: 1637924) Visitor Counter : 78