स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

भारत कोविड-19 बीमारी से एक ही दिन में ठीक होने के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंचा

पिछले 24 घंटों में 62,282 लोग कोविड-19 बीमारी से ठीक हुए

सक्रिय मामलों की प्रतिशतता में कमी और इससे ठीक होने वाले लोगों की प्रतिशतता में वृद्धि हुई

Posted On: 21 AUG 2020 12:37PM by PIB Delhi

कोविड-19 बीमारी से एक ही दिन में ठीक होने वाले लोगों की संख्या में हर रोज लगातार वृद्धि दर्ज करते हुए भारत ने आज इस मामले में एक और शिखर को छू लिया है। इस बीमारी से पिछले 24 घंटों में 62,282 मरीज़ ठीक हुए हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

अधिक रोगियों के ठीक होने और अस्पतालों तथा घरों पर आइसोलेशन (संक्रमण के हल्के और मध्यम मामलों में) से छुट्टी मिलने के साथ आज मरीज़ों के ठीक होने की संख्या (21,58,946)21.5 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों और कोविड-19 के सक्रिय मामलों के बीच का अंतर आज बढ़कर 14,66,918 तक हो गया है। कोविड-19 मरीजों के अधिक संख्या में ठीक होने के बाद उनके ठीक होने की प्रतिशत दर में निरंतर वृद्धि हो रही है और इसी के साथ सक्रिय मामलों की प्रतिशतता में भी लगातार गिरावट जारी है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0011MMH.jpg

संक्रमण से ठीक होने वालों की बढ़ती संख्या के साथ भारत में इससे ठीक होने की दर आज 74%(74.28%)तक बढ़ गई है जो यह सुनिश्चित करती है कि अधिक से अधिक रोगी ठीक हो रहे हैं।

      यह 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में संक्रमण से ठीक होने की दर 50% से अधिक होने की वजह से संभव हो पाया है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002CBZF.png

मौजूदा सक्रिय मामले (6,92,028) ही देश पर इसका वास्तविक भार है। पिछले 24 घंटों में और गिरावट दर्ज करते हुए यह आज कुल कोविड-19 पॉजिटिव मामलों का 23.82% है। ये सभी पॉजिटिव मामले सक्रिय चिकित्सा देखरेख में हैं।

अस्पतालों, घरों में डॉक्टरों की निगरानी में आइसोलेशन के दौरान बेहतर और प्रभावी नैदानिक उपचार, नॉन-इनवेसिव ऑक्सीजन सपोर्ट का उपयोग,त्वरित और समय पर इलाज के लिए मरीजों को लाने के लिए एम्बुलेंस की बेहतर सेवाओं, नई दिल्ली स्थित एम्स के दूरस्थ-परामर्श सत्रों के जरिए सक्रिय तकनीकी मार्गदर्शन से कोविड-19 के रोगियों का इलाज करने वाले डॉक्टरों के नैदानिक ​​कौशल के उन्नयन पर ध्यान केंद्रित करने से रोगियों का बेहतर और प्रभावी इलाज संभव हो पा रहा है। इससे यह सुनिश्चित हो गया है कि भारत में मृत्यु दर (सीएफआर) इसके वैश्विक औसत से नीचे बना हुआ है। इसमें निरंतर गिरावट दर्ज की जा रही है और अभी यह 1.89%है।

बीमारी की पहचान के लिए पिछले 24 घंटों में 8,05,985 नमूनों का परीक्षण किया गया। इसके साथ ही अब तक कुल 3,3,467,237 नमूनों का परीक्षण कराया जा चुका है।

देश में परीक्षण प्रयोगशाला नेटवर्क को लगातार मजबूत किया जा रहा है। आज की तारीख में देश में 1504 प्रयोगशालाएं कार्यरत हैं जिनमें सरकारी क्षेत्र में 978प्रयोगशालाएं और निजी क्षेत्र में 526प्रयोगशालाएं हैं। इनमें शामिल है:

 

वास्तविक समय आरटी पीसीआर आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 772 (सरकारी: 453 + निजी: 319)

ट्रूनेट आधारित परीक्षण प्रयोगशाला: 614 (सरकारी: 491 + निजी: 123)

सीबीएनएएटी आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 118 (सरकारी: 34 + निजी: 84)

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मुद्दों, दिशा-निर्देशों एवं परामर्शों पर सभी प्रामाणिक और अद्यतन जानकारी के लिए कृपया नियमित रूप से https://www.mohfw.gov.in/और @MoHFW_INDIA देखें।

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी सवाल technicalquery.covid19@gov.in और अन्य सवाल ncov2019@gov.in एवं @CovidIndiaSeva पर भेजे जा सकते हैं।

कोविड-19 को लेकर यदि कोई सवाल हो तो स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर: + 91-11-23978046या 1075 (टोल-फ्री) पर कॉल करें। राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों के हेल्पलाइन नंबरों की सूची भी https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdfपर उपलब्ध है।

***

एमजी/एएम/एके/एसएस

 



(Release ID: 1647569) Visitor Counter : 56