मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

केंद्रीय मंत्री श्री पुरुषोत्तम रूपाला ने मोढेरा सूर्य मंदिर, मेहसाणा, गुजरात में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह में भाग लिया

योग की विश्वव्यापी स्वीकृति भारत के लिए गर्व की बात:  श्री पुरुषोत्तम रूपाला

श्री पुरुषोत्तम रूपाला ने 5000 से अधिक किसानों तथा गुजरात की जनता के साथ योगाभ्यास किया

Posted On: 21 JUN 2022 12:22PM by PIB Delhi

भारत सरकार ने आज 21 जून 2022 को आठवां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया। आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष में मनाए जाने वाले आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर भारत सरकार ने माननीय प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश के 75 प्रतिष्ठित स्थानों पर योग दिवस मनाया। इसके अतिरिक्त विश्व के 75 स्थानों पर विभिन्न भारतीय राजदूतावासों द्वारा गार्जियन रिंग अवधारणा के साथ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। आठवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मुख्य विषय है मानवता के लिए योग।   

सार्वजनिक योगाभ्यास का मुख्य आयोजन मैसूर पैलेस में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में किया गया जहां उन्होंने देश भर में आयोजित समारोहों को वर्चुअल रूप में संबोधित किया।

केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन तथा डेयरी मंत्री श्री पुरुषोत्तम रूपाला ने मुख्य अतिथि के रूप में मोढेरा सूर्य मंदिर, मेहसाणा, गुजरात में योगाभ्यास किया। इस अवसर पर गुजरात के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री श्री ऋषिकेश पटेल, मेहसाणा की सांसद श्रीमती शारदाबेन पटेल, बीजापुर के विधायक श्री रमन भाई तथा बेचराजी के विधायक श्री रजनीकांत पटेल उपस्थित थे।

Rupala-1.jpg

Rupala-2.jpg

केंद्रीय मंत्री ने 5000 से अधिक डेयरी किसानों, स्थानीय गणमान्य लोगों तथा विद्यार्थियों के साथ कॉमन योग प्रोटोकॉल (सीवाईपी) में भाग लिया। योगाभ्यास में मेहसाणा जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक यूनियन लिमिटेड के सदस्य डेयरी किसानों ने भी भाग लिया।

योगोत्सव को संबोधित करते हुए श्री पुरुषोत्तम रूपाला ने कहा कि योग की विश्वव्यापी स्वीकृति भारत के लिए गर्व की बात है क्योंकि योग हमारी सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत का अभिन्न अंग है।

गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र रजनीकांत पटेल ने भी आयोजन को वर्चुअल रूप में संबोधित किया और हमारे दैनिक जीवन में योग के महत्व पर प्रकाश डाला। आयोजन को सफल बनाने के लिए गुजरात सरकार ने उत्साहपूर्वक सभी प्रशासनिक और लॉजिस्टिक समर्थन प्रदान किया।

ख्याति की दृष्टि से कोणार्क सूर्य मंदिर के बाद दूसरा स्थान रखने वाला मोढेरा का सूर्य मंदिर गुजरात में मंदिर वास्तुकला का बेहतरीन नमूना है। इसका निर्माण 11वीं शताब्दी ईस्वी में किया गया था। यह मंदिर पाटन शहर से 30 किलोमीटर दूर रूपेन नदी की सहायक पुष्पावती नदी के बायें किनारे मेहसाणा जिले के बेचराजी तालुका में है।

Rupala-3.jpg

Rupala-4.jpg

Rupala-5.jpg

Rupala-7.jpg

***

एमजी/एएम/एजी/ओपी



(Release ID: 1835905) Visitor Counter : 100


Read this release in: English , Urdu , Gujarati